श्रीदेवी के निधन बाद पहली बार बोले बोनी कपूर, जान्हवी की फिल्म पर भी की बात

श्रीदेवी के निधन के बाद पहली बार कैमरे के सामने बोले बोनी कपूर, इतना ही नहीं बेटी की फिल्म 'धड़क' और अर्जुन कपूर के करियर पर भी लंबी चर्चा. देखिए पूरा इंटरव्यू

1770 Reads |  

श्रीदेवी के निधन बाद पहली बार बोले बोनी कपूर, जान्हवी की फिल्म पर भी की बात



ईमानदारी से बताइएगा. क्या आप गुरुवार की रात अच्छी तरह से सो पाए थे. आखिरकार जान्हवी की फिल्म 'धड़क' जो रिलीज होनेवाली थी.

(हंसते हुए) ईमानदारी से कहूंगा, मैं अच्छी तरह से सोया. मुझे धड़क की शुरुआत के बारे में भरोसा था. काफी वक्त बाद ऐसी अच्छी लव स्टोरी सामने आयी है. धड़क हमें उसे अच्छे पुराने दिन में ले जाती हैं जिसमें इनोसेंट रोमांस हैं और अच्छे गाने है. जैसे आमिर खान और जूही चावला की कयामत से कयामत तक, सनी देओल और अमृता सिंह की बेताब, कमल हसन और रती अग्निहोत्री की एक दूजे के लिए.

 

इस तरह की केमिस्ट्री दो नए नए चेहरों के साथ हमेशा पसंद की जाती है अगर कंटेंट अच्छा हो तो, सैराट से बेहतर क्या हो सकता है. करण जौहर और शशांक खेतान ने एशियाई डायस्पोरा के लिए इसे बहुत अच्छी तरह से अडॉप्ट किया है.  शशांक ने इससे पहले दो हिट दिए थे (हम्प्टी शर्मा की दुल्हानिया और बद्रीनाथ की दुल्हानिया), इनकी जोड़ी ताजा थी. इसके अलावा ये सवाल भी था कि श्रीदेवी की बेटी कैसी दिखती है और वह कैसा  प्रदर्शन करती है. मुझे यकीन है कि दर्शक निराश नहीं हुए होंगे. 

 

करण जौहर का रिएक्शन कैसा था? फिल्म रिलीज के बाद आपने उनसे बात की?

खैर, जब उन्होंने पहली बार फिल्म को देखा तब मैंने उनसे बात की.

 

फिर?

वह उत्साहित था. वह ईशान और जान्हवी दोनों के बारे में बेहद खुश थे. 

 

कृपया बोलते रहिए...

शबाना आज़मी ने मुझे बोला था 'क्या जान्हवी ने चुपके से को 25-30 बार किया है? वह स्क्रीन पर काफी पॉलिश दिखाई दी. रेखा जी क

 

और ये लोग अलग ही लीग में आते हैं. ये सभी सिर्फ कुछ भी कहने के लिए चीजें नहीं कहते हैं...

हां, बिल्कुल. वरना वो प्यार से, 'अच्छा, अच्छा, अच्छा' है कहकर चले जाते हैं. फिर, जावेद अख्तर ने अगले दिन फोन किया. असल में, उन्होंने आज भी फोन किया और जान्हवी से कहा कि वह अभी भी इससे बाहर नहीं निकल पा रहे हैं उसने इतनी मुश्किल भूमिका कैसे निभा ली वो भी अपनी पहली फिल्म में. 

 

ईशान निश्चित रूप से एक अच्छा अभिनेता है. उन्होंने ये अपनी पहली फिल्म में ही साबित कर दिया था. लेकिन जान्हवी के साथ परिस्थितियां बिलकुल अलग थी धड़क की आधी शूटिंग श्री के निधन के बाद शूट की गई थी. ऐसी स्थितियों में शूट करना बहुत साहस की आवश्यकता होती है. मैं हमेशा उसे कहता था कि एक्टिंग करने की कोशिश ना करें बस उसका हिस्सा बने.

 

दुबई जाने से पहले श्री और मैंने धड़क के कुछ दृश्य देखे थे. हम कार में थे और मैंने उससे पूछा कि वह उसके बारे में क्या सोचती है. उसने कहा कि मुझे पहले उस सवाल का जवाब देना चाहिए. मैंने जवाब दिया, उसके बारे में अच्छी बात यह है कि वह आप से डर नहीं रही है.

 

हमारे पास बड़े सितारों के बच्चों के कई मामले हैं जो अपने माता-पिता के बड़े भय में हैं. व्यक्तित्व लक्षणों को बदला नहीं जा सकता है, यहां तक ​​कि आवाज़ भी समान हो सकती है --- लेकिन यहां जान्हवी की आवाज उसकी मां से अलग है.

 

हां, उसके पास एक असाधारण आवाज है ...

मैं अजीब नहीं कहूंगा, इससे वो प्यारी लगती है .. मुझे नहीं पता कि आप जानते हैं कि नहीं लेकिन जान्हवी फिल्मों की दीवानी है. वह राज कपूर, दिलीप कुमार, मधुबाला, नूतन, वहीदा रहमान, वैजंतीमाला की बड़ी फैन है. उसके पास उनकी फिल्मों का बड़ा कलेक्शन है. हाल ही में मैं बिमल रॉय के बेटे से भी कुछ बिमल दादा की फिल्मों को भेजने के लिए कहा है जो हमें अभी तक मिल नहीं पाई हैं. हम अभी जब बातें कर रहे हैं तो जान्हवी दूसरे कमरे में गुरुदत्त की फिल्म कागज के फूल देख रही हैं. हां, हम वास्तव में उसके जैसे बच्चे होने के लिए खुश हैं. वह जो चाहती है वो हासिल कर लेगी. उसकी जर्नी अभी शुरू हुई है.



मुझे श्रीदेवी से मुलाकात याद है जब वह अंग्रेजी विंग्लिश के लिए शूटिंग कर रही थी, वास्तव में आपने मुझे उससे मिलने में मदद की थी. वह नहीं चाहतीं कि जान्हवी इंडस्ट्री में कदम रखें. उनकी हिचकिचाहट क्या थी? पेशे की अप्रत्याशितता? और मैंने सुना है कि तुमने उन्हें मोटिवेट किया था... 

मैं यह नहीं कहूंगा कि मैंने जान्हवी को प्रेरित किया था. मैंने उसे प्रोत्साहित किया कि वह जो चाहें उसे करने दे. किसी के प्राकृतिक प्रवृत्तियों को क्यों रोकें? एक की तरह, मुझे तब तक नहीं पता था जब तक सलमान (खान) ने मुझे बताया कि अर्जुन में एक्टर बनने की कला है.

 

आपके प्रश्न के जवाब में कहूंगा, पेशे की अप्रत्याशितता एक कारण थी. श्री एक परफेक्शनिस्ट थी. इसलिए उन्होंने बहुत मेहनत की है --- इसलिए वो महसूस करती थी कि जान्हवी को एन्जॉय करना चाहिए जो उसके माता-पिता ने हासिल किया है. तो उसे ऐसे पेशे में जाना चाहिए जहां आराम हो. हमारे पास यहां कोई निश्चित समय नहीं है, आप स्क्रीन पर चमक और ग्लैमर देखते हैं- लेकिन इसे स्थापित करना और इसे पाना आसान नहीं है.

 

तो, फ्लैश पॉइंट क्या था जहां वह जान्हवी के साथ सहमत हुई और कहा, "ठीक है, मैं तुम्हारे साथ हूं"?

उसने भी देखा कि मेरी बेटी यही करना चाहती है जिसके बाद वह मेरे साथ सहमत हुई --- और फिर बहुत सपोर्टिव बन गई.

 

आपने कुछ रातें बिना की बिताई होंगी यह मेरे साथ घर पर होता है ...

हमें उस पर विश्वास था कि वह खुद की देखभाल कर सकती है, कुछ भी गलत नहीं करती है और दूर नहीं ले जाती है. वह आश्वासन था.

 

वह असली जिंदगी में कैसी है?

वह बहुत अच्छी बच्ची है. जो लोग उसके साथ बातचीत कर चुके हैं, वे मुझे बताते है कि मैं भाग्यशाली हूं. मेरे सभी बच्चें अच्छी बातें करते हैं. वे कहते हैं इन सबकी परवरिश बहुत अच्छी रही हैं. 

 

वर्तमान में आपने उसे क्या सलाह दी है?

चीजों को सरल रखें. हमारे पेशे में बहुत नकारात्मकता है. अलग-अलग लोगों के अलग-अलग एजेंडा होते हैं. अपना काम ईमानदारी और लगन से करों. सभी एक दिन आपके बारे में अच्छी बात करना शुरू कर देंगे.


आर्थिक स्तर पर चीजें कैसी चल रही हैं

सब ठीक हैं. अब हम उसकी बातों में नहीं जाते हैं. 

 

क्या जान्हवी अपनी मां की तरह हैं या आप की तरह?

उसे दोनों से अच्छे पॉइंट्स मिले हैं. इसके अलावा, उसका अपना व्यक्तित्व है. वह जानती  है कि वह क्या करना चाहती है और वह क्या नहीं करना चाहती. और, मैं इसका सम्मान करता हूं. घर पर हर चीज की चर्चा की जाएगी लेकिन अंतिम निर्णय उसका होगा.

 

अब एक अकेले माता-पिता के रूप में, क्या आपने क्या उसके सामने ये करना है ये नहीं करना है की लिस्ट बनाई है? जैसे की इतने बजे घर आना है...

मैं एक दोस्ताना पिता हूं. मैं इस उम्र से गुजरा हूं. मेरे सभी बच्चे अपनी सीमा जानते हैं. जहां तक ​जान्हवी के करियर का सवाल है, उनके पास करण और मैं हैं. लेकिन मैं हमेशा के लिए नहीं रहूंगा. वह युवा है. मैं 62-63 हूं.



ऐसा मत कहिए कि आप ज्यादा जिंदा नहीं रहेंगे.

मैं दार्शनिक नहीं हूं.

 

मिस्टर इंडिया और नो एंट्री के पार्ट 2 की चर्चा की जा रही हैं

आप जल्द ही कुछ सुनेंगे. अभी के लिए, मैंने एक फिल्म की घोषणा की है.

 

तो आप एक बड़े तरीके से वापस आ रहे हैं ...

मैं यह नहीं कहूंगा कि मैं एक बड़े तरीके से वापस आ रहा हूं. मैं कभी नहीं चला गया. मुझे बहुत सद्भावना थी और मुझे उम्मीद है कि मुझे शुभकामनाएं मिलती रहे. मैं मुश्किल वक्त में भी फिल्में बनाई. जैसे तेवर, मॉम, वॉन्टेड, मिलेंग मिलेंग, नो एंट्री. दुर्भाग्य से तेवर ने अच्छा प्रदर्शन नहीं किया, मिलेंगे मिलेंगे के साथ भी ऐसा हुआ. हालांकि इसका कारण था क्योंकि इसमें देरी हुई थी.

 

जब तेवर ने अच्छा प्रदर्शन नहीं किया तो इससे आपको दुख हुआ

बेशक, दुख हुआ. 

 

क्या अर्जुन ने कुछ कहा?

नहीं, उसने मुझे इसके लिए कभी दोषी नहीं ठहराया. वास्तव में, विषय उसने ही चुना था, मैंने उसे 3-4 सब्जेक्ट को दिखाया था और उसने तेवर चुना था.

उनके, मेरे और निर्देशक (अमित) के बीच असहमति थी.


अर्जुन के बारे में बात करते हैं, अब जान्हवी, खुशी और अंशुला एक साथ कैसे रह रहे हैं ये सब देख आप शांति महसूस करते हैं.

जैसा कि मैंने कहा, मुझे इन चारों को आशीर्वाद मिला है. वे एक-दूसरे से बहुत प्यार करते हैं और मुझे खुशी है कि वे एक साथ आए हैं. यह किसी भी समय हो सकता था लेकिन ये तब हुआ जब काफी कुछ दुर्भाग्यपूर्ण हुआ. वे सारे मेरे खून हैं.

 

मैं सभी चारों को श्रेय देता हूं, लेकिन हां, अर्जुन के लिए अधिक क्योंकि वह सबसे बड़ा है. वह दुबई में मेरे साथ आया था. अंशुला मुंबई में जान्हवी और खुशी के साथ थी. वे दो अलग-अलग माताओं के माध्यम से हुए हैं लेकिन उन्हें क्यों प्रभावित होना चाहिए? उन्हें अब अपने पिता की ज़रूरत है, और मैं उनके हर तरफ हूं. 

 

अर्जुन अब काफी संभल गए हैं आप उनका कितना मार्गदर्शन करते हैं?

अर्जुन एक समझदार लड़का है. मेरे साथ रहते हुए उसने काफी कुछ देखा है. वो अब घटनेवाली घटनाओं को संभाल लेता है. अनुभव सबसे अच्छा शिक्षक है. मैं हमेशा उसके चारों ओर रहूंगा, इसके अलावा उनके पास आदित्य चोपड़ा है उसका मार्गदर्शन करने के लिए. वह भी सुरक्षित हाथों में है.

 

अब, कृपया थिएटर में जाकर धड़क देख आए आप...

(हंसते हुए) जान्हवी ने गैटी-गैलेक्सी में देखा और बहुत खुश हो गई. मैं सिनेमाघरों में नहीं जाता हूं. मुझे बहुत परेशान हो जाता है अगर कोई भी चीज ठीक ना हो जैसे जगह, साउंड और पिक्चर क्वालिटी.

 

अपनी पत्नी की तरह, आप एक परफेक्शनिस्ट हैं ...

यही कारण है कि हम इतने समय तक अच्छी तरह रहें (हंसते हुए)

 

They say the best things in life are free! India’s favourite music channels 9XM, 9X Jalwa, 9X Jhakaas, 9X Tashan, 9XO are available Free-To-Air.  Make a request for these channels from your Cable, DTH or HITS operator.
Advertisement
Advertisement
  • Trending
  • Photos
  • Quickies