फिल्मों के फ्लॉप और लीक होने के बाद भी मैंने वीरे दी वेडिंग बनाने का फैसला किया: एकता कपूर

सोनम कपूर और करीना की फिल्म वीरे दी वेडिंग को प्रोड्यूस करने वाली एकता कपूर के लिए ये फिल्म करना आसन नहीं था. लेकिन इस कारण उन्होंने इस फिल्म को करने का फैसला किया

वेब सीरिज करने के बाद आप दोबारा फिल्में बना रही है जबकि पिछले कुछ समय में आपकी फिल्मे?

फिल्में खराब थी साल खराब थे?

हां,

देखिए मेरी कुछ फिल्में फ्लॉप हुई (हाफ गर्लफ्रेंड और फ्लाइंग जट) और कुछ ऑनलाइन लीक हुई. (उड़ता पंजाब और ग्रेट ग्रांड मस्ती). हां मेरे लिए वो मुश्किल भरा वक्त था. लेकिन चीजें बदली मेरी मां ने कहा रिस्क लेते है और वीरे दी वेडिंग करते हैं.

एक वक्त था जब आपने इस फिल्म से किनारा करने की सोच ली थी.

हां, मेरा भरोसा करिए मुझे बहुत बुरा लगा उस बारे में. रेहा (प्रोड्यूसर) और मैं पहले दिन से प्रोजेक्ट को लेकर एक थे. लेकिन एक दिन मैंने उन्हें फोन करके कहा कि मैं ये फिल्म नहीं कर सकती.

बोलते रहिए...

मुझे लगा बजट अब सही नहीं जा रहा है इसके साथ ही ट्रेड पंडितओं ने कहा मैं गलती कर रही हूं क्योंकि महिला प्रधान फिल्में बॉक्स ऑफिस पर नहीं चलती. काफी कुछ घट रहा था तब लेकिन मेरी मां ने मेरा नजरिया बदला. आज मैं खुश हूं कि मैंने ये फिल्म पूरे आदर्श के साथ की.

क्या नारीवाद इस फिल्म का मुख्य झुकाव है?

फिल्म में चार लड़कियां है इसका मतलब ये नहीं है कि ये कोई महिलाओं के अधिकार की बात करने वाली फिल्म है. ये लड़कियां अपनी जिंदगी जी रही है. अगर जिंदगी आपको लेमन दे रही तो आप अपने दोस्तों को बुलाएंगे और वो टकीला लेकर आएंगे (हंसते हुए)

क्या आप इस विषय के साथ खुद को जोड़ती हैं क्योंकि आप खुद एक तेजतरार्र लड़की हैं?

मैं तेजतरार्र हूं तो ये 4 लड़कियां भी फिल्म तेजतरार्र हैं. लेकिन ये सभी नारीवाद की ध्वजवाहक नहीं है. इन सभी के साथ 19 से 20 साल की लड़की भी खुद को जोड़कर देख पाएंगी. किसी ने मुझसे पूछा की लड़कियां गाली क्यों दे रही हैं, क्या जरूरत थी? मैंने उससे पूछा जब लड़के गाली देते है जैसे प्यार का पंचनामा?



उसका मतलब होगा गाली देना शोभा नहीं देता.

लेकिन अब शोभा (शोभा कपूर) ने दे दिया ना? देखिए कुछ तो लोग कहेंगे लोगों का काम है कहना.

 

वीरे दी वेडिंग लिपस्टिक अंडर माय बुरखा से अलग कैसे है?

लिपस्टिक मुख्य रूप से अलग-अलग उम्र की महिलाओं की कहानी थी ये उससे काफी अलग है. प्यार का पंचनामा में आप मर्दो के बीच की मस्ती ने बांध रखा था यहां महिलाएं हैं.

 

इन चारों में आप जैसी कौन हैं?

मैं निष्पक्ष होकर जवाब दूंगी, वो स्वरा भास्कर है फिल्म में वो गालियां बकती है वो बेशर्म है.


क्या आपने स्वरा को ये बताया?

हां, मैंने बोला हैं.


आपके घर पर कैसे नियम है? मतलब तुषार के लिए अलग और आपके लिए अलग?

नहीं बिलकुल भी नहीं. लेकिन हां, जब भी मुझे पार्टीज में जाना होता तो तुषार मेरे साथ होता था.


क्या आपने कभी अपने किसी दोस्त/साथी खो दिया है जब आपने ऐसा कहा?

नहीं, लेकिन अपने दोस्तों के साथ काम करते हुए मुझे कई बार प्रोफेशनल फैसले लेने पड़े. ऐसे में अगर वो मुझसे दूर चले गए तो मतलब वो मेरे दोस्त नहीं थे.


लोग आपको अब जानने लगे हैं...

थोड़ा- बहुत (हंसते हुए)


यहां देखिए एकता का पूरा इंटरव्यू.


RELATED NEWS