खिलाड़ी अक्षय कुमार ने बताया... आखिर क्यों है हम सबके लिए भारत का पहला जीता हुआ ‘गोल्ड’ बेहद महत्त्वपूर्ण

‘गोल्ड’ में भारतीयों का जीत हासिल करने के सपने और 1948 में हुए लंदन के XIV ओलंपियाड के खेलों में एक साथ मिलकर स्वर्ण पदक जीतने की कहानी दिखाई जाएगी.

अक्षय कुमार की फिल्म ‘गोल्ड’ में 1948 में लंदन में आयोजित हुए XIV ओलंपियाड के खेलों में, एक स्वतंत्र राष्ट्र के रूप में भारत की पहली ओलंपिक पदक जीत को दर्शाया गया है. ‘गोल्ड’ में भारतीयों का जीत हासिल करने के सपने और 1948 में हुए लंदन के XIV ओलंपियाड के खेलों में एक साथ मिलकर स्वर्ण पदक जीतने की कहानी दिखाई जाएगी.

अक्षय कुमार को हाल ही में गोल्ड के एक विशेष इवेंट पर कहते हुए सुना गया “हमारे पास 18-19 स्वर्ण पदक है, जो अगर गिनती की जाए तो कॉमनवेल्थ में सबसे अधिक है, कॉमनवेल्थ में इतने स्वर्ण पदक जीतना भारत के लिए एक बहुत बड़ी उपलब्धि है." फ़िल्म के बारे में बात करते हुए अक्षय ने कहा. "हॉकी हमारे लिए एक बहुत ही महत्वपूर्ण खेल है, यह पहला खेल है जिसने हमें 1948 में एक स्वर्ण पदक जिताया था. मुझे आशा है कि जब यह फिल्म रिलीज होगी तो यह हॉकी को इसका हक दिलाने में मददगार साबित होगी, मुझे आशा है कि इसके बाद चीजें बदल जाएंगी."

अक्षय ने आगे बताया, "फ़िल्म का ट्रेलर रिलीज होने से पहले ज्यादातर लोगों को पता नहीं था कि हमें हमारा पहला स्वर्ण पदक 1948 में मिला था. यह मेरे लिए और हमारे देश के लिए एक बहुत ही महत्वपूर्ण फिल्म है और हमारे युवाओं के लिए भी बेहद महत्वपूर्ण है ताकि उन्हें पता लगे कि हमारा अतीत क्या था और हमारा इतिहास क्या था."
Akshay Kumar Still

हाल ही में रिलीज हुई फ़िल्म के ट्रेलर और गानों को दर्शकों द्वारा बेहद पसंद किया गया है और परिणामस्वरूप अब बेसब्री से फ़िल्म के रिलीज होने का इंतेजार किया जा रहा है. रीमा कागती द्वारा निर्देशित इस फ़िल्म के साथ टीवी अभिनेत्री मौनी रॉय बॉलीवुड में अपना पहला कदम रखने जा रही है. इस फिल्म को ब्रिटेन और भारत में फ़िल्माया गया है, जिसके माध्यम से पूर्व-स्वतंत्र युग के आकर्षक पहलू से देश की जनता को रूबरू करवाया जाएगा.

एक्सेल एंटरटेनमेंट बैनर के तहत, रितेश सिधवानी और फरहान अख्तर द्वारा निर्मित और रीमा काग्टी द्वारा निर्देशित ‘गोल्ड’ 15 अगस्त 2018 के दिन बड़े पर्दे पर दर्शकों से रूबरू होगी.

RELATED NEWS