Sexual harassment को लेकर डायरेक्टर अनुराग कश्यप ने फिल्म इंडस्ट्री पर साधा निशाना

फिल्म निर्देशक अनुराग कश्यप ने स्वीकार किया है कि वे फिल्म निर्देशक विकास बहल के खिलाफ लगे यौन शोषण के आरोपों के बारे में जानते थे. उन्होंने कहा कि इस संबंध में सही निर्णय नहीं लेने के लिए उन्हें दुख होता है.

30 Reads | Published on 

Sexual harassment को लेकर डायरेक्टर अनुराग कश्यप ने फिल्म इंडस्ट्री पर साधा निशाना

तनुश्री दत्ता ने कुछ दिन पहले यौन शोषण को लेकर जो भी कहा उससे ना केवल फिल्म इंडस्ट्री सन्न रह गयी बल्कि आम लोगों के होश भी उड़ गए. नाना पाटेकर पर लगे आरोपों के बाद लोगों के बीच एक नयी बहंस छिड गयी है. जहां ज्यादातर लोग तनुश्री को सपोर्ट कर रहे हैं वहीँ कुछ लोग नाना के साथ भी खड़े हैं. इस विवाद के बाद कई लोग खुलकर सामने आये हैं और आप बीती बताई है. ये बेहद हैरानी की बात है कि कैसे कुछ बड़े सेलेब्स इसमें शामिल है. और अब डायरेक्टर अनुराग कश्यप ने बड़ी बात कह दी है.

फिल्म निर्देशक अनुराग कश्यप ने स्वीकार किया है कि वे फिल्म निर्देशक विकास बहल के खिलाफ लगे यौन शोषण के आरोपों के बारे में जानते थे. उन्होंने कहा कि इस संबंध में सही निर्णय नहीं लेने के लिए उन्हें दुख होता है. कश्यप, विक्रमादित्य मोटवानी और मधु मंटेना के साथ बहल की साझेदारी वाली कंपनी 'फैंटम फिल्म्स' की एक महिला कर्मी ने बहल पर गोवा की यात्रा के दौरान उनका यौन शोषण करने का आरोप लगाया था. सात साल चलने के बाद 'फैंटम फिल्म्स' अब बंद हो गई है.

कश्यप ने रविवार को ट्विटर पर एक लंबे बयान में कहा, "फैंटम के दौरान हम जो भी कर सकते थे, हमने किया. जैसा हमारे सहयोगी और उसके वकीलों ने हमें बताया. न्यायिक और आर्थिक निर्णयों के लिए मैं पूरी तरह अपने साझेदार और उसके दल पर निर्भर था. वे उन चीजों का ख्याल रखते थे जिससे मैं उन कामों पर ध्यान दे सकूं जिनमें मैं बेहतर और रचनात्मक करता. उनके शब्द और उनके दल के शब्द हमारे लिए किसी भी मामले में अंतिम निर्णय हुआ करते थे."

उन्होंने लिखा, "उस समय मुझे दी गई विधि सलाह के आधार पर मुझे बताया गया कि हमारे पास सीमित विकल्प हैं. लेकिन अब देखता हूं कि मुझे किस तरह गुमराह किया गया था."कश्यप ने बताया कि बहल की सार्वजनिक रूप से निंदा करने के बाद उन्होंने कैसे इन परिस्थितियों का सामना किया. कंपनी ने बहल को कार्यालय परिसर में प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी और उनके अधिकार छीन लिए.उन्होंने कहा कि स्टूडियो का अनुबंध उन्हें उनके साझेदार बहल के खिलाफ जाने की अनुमति नहीं देता था.

उन्होंने कहा, "फिल्म उद्योग यौन शोषण, कॉपीराइट, सेंसरशिप जैसे मामलों से निपटने में असमर्थ है. इसका बड़ा कारण यह है कि यहां सही सलाह और विधिक जानकारियों की जागरूकता की कमी है." कश्यप ने इस दौरान पीड़िता से माफी मांगी.

देखना होगा कि ये जो नयो लहर दौड़ी है उसका असर क्या होता है. 

आईएएनएस से इनपुट लेकर

Continue Reading
Advertisement
Advertisement
  • Trending
  • Photos
  • Quickies