93 साल की उम्र में ऋतिक रोशन के नाना जे ओम प्रकाश ने कहा दुनिया को अलविदा, बड़े परदे पर दी कई सुपरहिट फ़िल्में

ऋतिक रोशन के नाना और फिल्ममेकर जे ओम प्रकाश ने 93 साल की उम्र में इस दुनिया को अलविदा कह दिया. उन्होंने अपने फ़िल्मी करियर में कई क्लासिकल और सुपरहिट फ़िल्में दी

567 Reads |  

93 साल की उम्र में ऋतिक रोशन के नाना जे ओम प्रकाश ने कहा दुनिया को अलविदा, बड़े परदे पर दी कई सुपरहिट फ़िल्में

ऋतिक रोशन के नाना जे.ओम प्रकाश ने बुधवार की सुबह अपने आवास पर जिंदगी की आखिरी सांस ली. वह 93 वर्ष के थे. इस दिग्गज फिल्ममेकर ने 70 और 80 के दशक में 'आई मिलन की बेला', 'आया सावन झूम के' और 'आप की कसम' जैसी कई सदाबहार क्लासिक फिल्में अपनी ऑडियंस को दी. ट्रेड एनालिस्ट अक्षय राठी ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर इस अभिनेता के निधन की जानकारी दी. उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा, भगवान उनकी आत्मा को शान्ति दे और उनके परिवार को इस दुःख की घडी में हिम्मत दे.

अपने चाचा के निधन की खबर को साझा करते हुए अभिनेता दीपक पराशर ने ट्वीट करते हुए लिखा, "मेरे सबसे प्यारे अंकल मिस्टर जे. ओम प्रकाश का निधन एक घंटे पहले हुआ. इसका बेहद दुख है, स्वर्ग में उनकी मुलाकात अपने दोस्त और मेरे मामाजी मिस्टर मोहन कुमार संग होगी! भारतीय सिनेमा में उनका योगदान एक तोहफा है जिसे वे अपने पीछे छोड़ गए.” अपने इस ट्वीट के साथ उन्होंने प्रकाश के साथ वाली अपनी एक तस्वीर भी साझा की. उन्होंने लिखा, "कुछ महीने पहले जब उन्हें देखने गया था तब यह तस्वीर ली थी. ओम शांति." यह भी पढ़ें: फिल्म 'वॉर' का नया पोस्टर हुआ रिलीज़, एक दूसरे के प्यार में खोए हुए नजर आये ऋतिक रोशन और वाणी कपूर

ऋतिक रोशन ने भी नाना की देहांत के बाद एक तस्वीर अपने ट्विटर अकाउंट पर शेयर की. इस तस्वीर के साथ इस अभिनेता ने ट्वीट करते हुए लिखा, “मैं मेरे नाना को डैडा बुलाना पसंद करता था. उन्होंने मुझे मेरी जिंदगी के हर पड़ाव पर कुछ नया सबक दिया, जो आज मैं अपने बच्चों के साथ शेयर करता हूं और मेरी डॉक्टर ओज़ा, जो बचपन में मेरी स्पीच थेरेपिस्ट थी, उन्होंने मुझे अपनी कमजोरी को स्वीकार करके अपने डर पर जीत हासिल करना सिखाया. यह भी पढ़ें: Krrish 4: ऋतिक रोशन ने की बातचीत, कहा फिल्म की स्क्रिप्ट फाइनल स्टेज पर है

उनका अंतिम संस्कार आज दोपहर में विले पार्ले श्मशान में किया गया. जहां पर उनके नाती ऋतिक ने खुद उन्हें अंतिम श्रद्धांजलि दी. इस महान फिल्ममेकर को अंतिम विदाई देने के लिए राकेश रोशन और ऋतिक रोशन के अलावा बॉलीवुड जगत के भी कुछ करीबी लोग मौजूद रहे. उनके परिवार के करीबी और मशहूर पत्रकार इंद्रमोहन सिंह पन्नू ने आईएएनएस को बताया, "महिला-केंद्रित फिल्में बनाना, इंडियन मोशन पिक्चर्स प्रोड्यूसर्स एसोसिएशन के एक महत्वपूर्ण कार्य और इंडस्ट्री के अन्य कार्यो के साथ वह अपने पूरे करियर में काफी सक्रिय रहे." यह भी पढ़ें: आखिरकार अब महाराष्ट्रा में भी टैक्स फ्री हुई ऋतिक रोशन की 'सुपर 30'

एक निर्माता के तौर पर उन्होंने 'आस का पंछी' (1961), 'आई मिलन की बेला' (1964) 'आया सावन झूम के' (1969), और 'आंखों आंखों में' (1972) जैसी फिल्मों में काम किया. गुलजार साहब संग उन्होंने साल 1975 में आई ब्लॉकबस्टर फिल्म 'आंधी' का सह-निर्माण किया जिसमें संजीव कुमार और सुचित्रा सेन मुख्य भूमिका में थे बाद में, उन्होंने निर्देशन के क्षेत्र में कदम रखा और कई फिल्मों का निर्देशन किया जिनमें राजेश खन्ना स्टारर 'आप की कसम' (1974), 'आखिर क्यों?' (1985), 'आशिक हूं बहारों का' (1977), धमेंद्र और हेमा मालिनी स्टारर 'आसपास' (1981), रजनीकांत और राकेश रोशन और श्रीदेवी स्टारर 'भगवान दादा' (1986) जैसी फिल्में शामिल हैं

image sources: twitter/hritik roshan 

They say the best things in life are free! India’s favourite music channels 9XM, 9X Jalwa, 9X Jhakaas, 9X Tashan, 9XO are available Free-To-Air.  Make a request for these channels from your Cable, DTH or HITS operator.
Advertisement
  • Trending
  • Photos
  • Quickies