लेखक जावेद अख्तर ने दिया बयान, कहा बुर्के और घूंघट दोनों को हटाया जाए

जावेद अख्तर ने मुस्लिम महिलाओं के बुर्के को लेकर चल रही बहस पर बातचीत करते हुए कहा कि बुर्के और घूंघट दोनों पर से प्रतिबंध हटाया जाना चाहिए. इसके साथ ही जावेद अख्तर ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि उन्होंने हार मान ली है इसलिए वह साध्वी प्रज्ञा को भोपाल से चुनाव लड़वा रहे हैं. पढ़ें पूरी खबर

210 Reads |  

लेखक जावेद अख्तर ने दिया  बयान, कहा बुर्के और घूंघट दोनों को हटाया जाए

मुस्लिम महिलाओं के बुर्के को लेकर चल रही बहस के बीच प्रसिद्ध गीतकार जावेद अख्तर ने गुरुवार को बुर्का और घूंघट को एक जैसा बताते हुए दोनों को हटाने की पैरवी की है. संवाददाताओं ने यहां उनसे शिवसेना के मुख पत्र सामना में बुर्के पर प्रतिबंध लगाए जाने का जिक्र किए जाने से संबधित सवाल पूछा,  जिस पर लेखक जावेद अख्तर ने जवाब देते हुए कहा, "मेरे घर में सभी महिलाएं कामकाजी रही हैं, मां भोपाल के हमीदिया कॉलेज में पढ़ाती थीं, घर में कभी बुर्का देखा नहीं, इसलिए बुर्के के मामले में मेरी जानकारी कम है." 

आगे बातचीत करते हुए जावेद साहब ने कहा, "बुर्के को लेकर भी बहस है, ईरान कट्टर मुस्लिम देश है, लेकिन वहां महिलाएं चेहरा नहीं ढकती. श्रीलंका में जो कानून आया, उसमें भी ये है कि औरतें चेहरा नहीं ढक सकती. आप चाहे जो पहनें मगर चेहरा कवर नहीं होना चाहिए, आपका चेहरा खुला होना चाहिए. यहां भी अगर ऐसा कानून लाना चाहते हैं और यह किसी की राय है तो मुझे कोई आपत्ति नहीं है. लेकिन इससे पहले कि राजस्थान में चुनाव का आखिरी चरण हो जाए उससे पहले केंद्र सरकार को ऐलान करना होगा कि राजस्थान में भी कोई महिला घूंघट नहीं लगा सकती." यह भी पढ़ें: पीएम नरेंद्र मोदी के पोस्टर पर जावेद अख्तर ने उठाया सवाल, पूछा- यहां मेरा नाम क्यों है?
Image result for javed akhtar and narendra modi biopic
जावेद अख्तर ने आगे बातचीत में कहा, "चेहरे बुर्के से कवर होंगे या घूंघट से, यह एक बात है. अगर बुर्के और घूंघट हट जाएं तो मुझे खुशी होगी." भाजपा की तरफ से भोपाल से साध्वी प्रज्ञा को चुनाव लड़ाए जाने पर चर्चा करते हुए जावेद अख्तर ने कहा, "मुझे लगता है कि भाजपा ने प्रज्ञा ठाकुर को भोपाल से उम्मीदवार बनाकर अपनी हार मान ली है. भाजपा ने यह मान लिया है कि अब अपने को अच्छा दिखाने का ड्रामा नहीं करना चाहिए और असल मुद्दे पर आ जाना चाहिए, वही चुनाव में काम आएगा. अभी तक जो पर्दा ओढ़ा गया था, उसे हटा दिया गया है. भाजपा को अगर जरा सा भी जीतने का विश्वास होता तो वह प्रज्ञा ठाकुर को टिकट नहीं देते. उन्हें भी प्रज्ञा को उम्मीदवार बनाने में तकलीफ हुई होगी, मगर मजबूरन उन्हें ऐसा करना पड़ा होगा. यह भी पढ़ें: जावेद अख्तर और शबाना आजमी ने रखी होली पार्टी, लवबर्ड फरहान अख्तर और शिबानी दांडेकर भी डांस करते आए नजर

उन्होंने कहा, "आजादी के बाद यह चुनाव सबसे महत्वपूर्ण चुनाव है और मेरा भोपाल से रिश्ता है, इसलिए मेरा यह कर्तव्य बनता था कि भोपाल के लोगों से बात करने मैं यहां आऊं." जावेद अख्तर ने इसके साथ ही राजनेताओं के भाषा के गिरते स्तर पर अपनी चिंता व्यक्त की. 

Image Sources: head topics/
MensXP.com

They say the best things in life are free! India’s favourite music channels 9XM, 9X Jalwa, 9X Jhakaas, 9X Tashan, 9XO are available Free-To-Air.  Make a request for these channels from your Cable, DTH or HITS operator.
Advertisement
  • Trending
  • Photos
  • Quickies