स्वर कोकिला लता मंगेशकर का ऐलान-आखिरी सांस तक गाऊंगी

रिटायरमेंट की खबरों के बाद लता जी ने अपने प्रशंसकों को आश्वासन दिया कि उनकी रिटायरमेंट की कोई योजना नहीं है और जब तक सांस चलेगी वो गाना गाती रहेंगी.

1486 Reads |  

स्वर कोकिला लता मंगेशकर का ऐलान-आखिरी सांस तक गाऊंगी
सुर साम्राज्ञी लता मंगेशकर 89 वर्ष की हो चुकी हैं और काफी समय से गायकी की दुनिया से भी दूर हैं ऐसे में उनके रिटायरमेंट की बातें होने लगी थी. लेकिन अब खुद लता जी ने इन खबरों को फर्जी बताया हैं और कहा कि वो अपनी अंतिम सांस तक गाती रहेंगी. सोशल मीडिया पर लताजी का गाया हुआ मराठी गाना 'अता विश्व्याछा कसां' पोस्ट किया गया है, जिसका अर्थ है 'अब आराम का समय है'. इस गाने को लताजी की रिटायरमेंट से जोड़कर देखा जा रहा है, जिससे उनके प्रशंसकों में मायूसी है. 

लताजी ने एक खास बातचीत में कहा, "मुझे नहीं पता कि यह अफवाह किसने शुरू की और क्यों? मुझे यह किसी खाली बैठे बेवकूफ आदमी का काम लगता है. दो दिन पहले मुझे अचानक मेरी रिटायरमेंट को लेकर संदेश और फोन आने शुरू हो गए." यह भी पढ़े: Lata Mangeshkar Birthday: जब लता मंगेशकर को जान से मारने की कोशिश की गई थी

लता जी हैरान हैं कि ये खबरें कहां से आई. उन्होंने कहा, "मुझे पता चला कि मेरे मराठी गीतों में से एक 'अता विश्व्याछा कसां' को मेरे अलविदा कहने के गीत के रूप में देखा जा रह है. लेकिन मैंने पांच साल पहले उस गीत को गाया था! 2013 में, इस गीत को लेकर संगीत निर्देशक सलील कुलकर्णी मेरे पास आए. मैं इसे मुख्य रूप से गायन करने पर सहमत हुई क्योंकि यह प्रसिद्ध कवि बालकृष्ण भगवंत बोरकर ने लिखा था. मैंने कभी उनकी कविता नहीं गाई थी. मुझे क्या पता था कि पांच साल बाद शरारती दिमाग वाले लोग इसे मेरी रिटायरमेंट से जोड़ेंगे." यह भी पढ़े: #MeToo movement पर अब लता मंगेशकर ने तोड़ी चुप्पी, कहा- मुझसे खराब व्यवहार करने वाला बचकर नहीं जा सकता

लता जी ने अपने प्रशंसकों को आश्वासन दिया कि उनकी रिटायरमेंट की कोई योजना नहीं है. उन्होंने कहा कि वह अपनी आखिरी सांस तक गाती रहेंगी.

आईएएनएस से इनपुट लेकर 
Advertisement
  • Trending
  • Photos
  • Quickies