द यूनिवर्सिटी ऑफ लॉ ने शाहरुख खान को डॉक्टरेट की उपाधि दी

शाहरुख खान ने भारत सरकार के कई अभियानों को समर्थन दिया है जिसमें पल्स पोलियो और राष्ट्रीय एड्स नियंत्रण संगठन से जुड़े अभियान भी शामिल हैं

195 Reads |  

द यूनिवर्सिटी ऑफ लॉ ने शाहरुख खान को डॉक्टरेट की उपाधि दी

बॉलीवुड के किंग शाहरुख खान को भारत में मानव अधिकारों के लिए किए गए काम के कारण अब डॉक्टरेट की उपाधि से नवाजा गया है. द यूनिवर्सिटी ऑफ बेडफोर्डशायर और द यूनिवर्सिटी ऑफ एडिनबर्ग से डॉक्टरेट की मानद उपाधि से सम्मानित किए जाने के बाद अब द यूनिवर्सिटी ऑफ लॉ (लंदन) द्वारा चैरिटी के काम के लिए उन्हें डॉक्टरेट की मानद उपाधि प्रदान की गई है. अभिनेता को गुरुवार को 350 से ज्यादा छात्रों के ग्रेजुएशन समारोह के दौरान इस उपाधि से सम्मानित किया गया.

अभिनेता ने पिछले कई सालों में खुद को एक सफल अभिनेता, फिल्म निर्माता, टेलीविजन होस्ट, परोपकारी और उद्यमी के तौर पर स्थापित किया है. 

फिल्म 'माई नेम इज खान' के अभिनेता ने भारत में मानव अधिकारों के लिए काम कर लोगों का प्यार बटोरा है. उन्होंने भारत सरकार के कई अभियानों को समर्थन दिया है जिसमें पल्स पोलियो और राष्ट्रीय एड्स नियंत्रण संगठन से जुड़े अभियान भी शामिल हैं. उन्होंने मेक-अ-विश फाउंडेशन सहित कई परोपकारी संस्थाओं के साथ काम किया है. यह भी पढ़ें: जब शाहरुख खान के घर खाना खाने से आमिर ने कर दिया था इनकार और लेकर पहुंचे थे अपना टिफिन


शाहरुख ने एक बयान कहा, "मेरा मानना है कि चैरिटी का काम खामोशी और गरिमा के साथ करना चाहिए. किसी को अपने चैरिटी के काम के बारे में ढिंढोरा नहीं पीटना चाहिए क्योंकि इससे फिर इसका मकसद खो जाता है. मैं खुद को खुशनसीब मानता हूं कि एक पब्लिक पर्सनालिटी होने की वजह से मैं ऐसे अभियानों से जुड़ सका जो मेरे दिल के करीब हैं." यह भी पढ़ें: आईपीएल मैच में नाईट राइडर्स का उत्साह बढ़ाने के बाद मुंबई लौटे शाहरुख खान: देखिए तस्वीरें

उन्होंने कहा, "मैं सक्रिय रूप से महिला सशक्तिकरण, वंचितों के पुनर्वास और मानवाधिकारों जैसे मुद्दों से जुड़ा रहता हूं. मेरा मानना है कि दुनिया ने मुझे बहुत कुछ दिया है और बदले में मुझे भी इसे भी कुछ देना चाहिए. इस मानद उपाधि से खुद को सम्मानित महसूस कर रहा हूं. इस उपाधि के लिए मेरा चयन करने के फैसले से जुड़े हर शख्स का धन्यवाद करता हूं."

शाहरुख का गैर-सरकारी संगठन मीर फाउंडेशन मुख्य रूप से एसिड अटैक की शिकार पीड़िताओं के लिए काम करता है और इसका मकसद महिलाओं को सशक्त बनाना है. एसिड अटैक सर्वाइवर्स के लिए काम करने के लिए उन्हें 2018 में दावोस (स्विट्जरलैंड) में क्रिस्टल अवार्ड से सम्मानित किया गया था.

Image Credit: Instagram/popxo.hindi

They say the best things in life are free! India’s favourite music channels 9XM, 9X Jalwa, 9X Jhakaas, 9X Tashan, 9XO are available Free-To-Air.  Make a request for these channels from your Cable, DTH or HITS operator.
Advertisement
  • Trending
  • Photos
  • Quickies