शाहरुख खान ने कैंसर को मात देने वाले बहादुर बच्चों से की मुलाक़ात!

'वर्ल्ड चिल्ड्रेंस विनर्स गेम' में भारत का प्रतिनिधित्व करने वाले बच्चों को शुभकामनाएं देने के लिए खेल के शौक़ीन शाहरुख खान ने आज उन्हें अपने निवास स्थान मन्नत पर आमंत्रित किया था

116 Reads |  

शाहरुख खान ने कैंसर को मात देने वाले बहादुर बच्चों से की मुलाक़ात!
शाहरुख खान के मीर फाउंडेशन और कोलकाता नाइट राइडर्स द्वारा समर्थित टाटा मेमोरियल अस्पताल में इंपैक्ट फाउंडेशन ने इस वर्ष 'वर्ल्ड चिल्ड्रेंस विनर्स गेम' में भारत का प्रतिनिधित्व करने वाले सभी बच्चों का समर्थन करने के लिए पहल की है. रूसी अभिनेत्रियां चुलपन खामाटोवा और दीन कोर्ज़ुन द्वारा स्थापित ‘गिफ़्ट ऑफ लाइफ फाउंडेशन’ के जरिये 2010 से शुरू हुई इस प्रतिस्पर्धा में बचपन में कैंसर को मात देने वाले बच्चों को हर साल यह अद्भुत अवसर दिया जाता है. वर्ल्ड चिल्ड्रेंस विनर्स गेम को रूस के मोस्को में आयोजित किया जाता है जहां कैंसर पर जीत हासिल करने वाले सभी लोगों को दुनियाभर से ट्रैक, शतरंज, फुटबॉल, टेबल टेनिस, तैराकी और शूटिंग जैसे खेल के लिए आमंत्रित किया जाता है जहाँ वे अपना खोया हुआ आत्मविश्वास फिर से खोज सकते है.

कोलकाता नाइट राइडर्स के साथ मीर फाउंडेशन बच्चों को टूर्नामेंट के लिए जर्सी और किट के साथ समर्थन कर रहे हैं. खेल इस साल 2 अगस्त से 6 अगस्त तक रूस के मोस्को में आयोजित किया जाएगा. इस खेल के लिए हर साल 9-10 बच्चें और प्रत्येक बच्चो के साथ एक परिजन के अलावा डॉक्टर और सामाजिक कार्यकर्ताओं को भेजा जाता है.

'वर्ल्ड चिल्ड्रेंस विनर्स गेम' में भारत का प्रतिनिधित्व करने वाले बच्चों को शुभकामनाएं देने के लिए खेल के शौक़ीन शाहरुख खान ने आज उन्हें अपने निवास स्थान मन्नत पर आमंत्रित किया था.

बच्चों से मुलाक़ात करने वाले शाहरुख खान ने साझा किया,"प्रत्येक बच्चे जिनसे मैंने आज मुलाकात की वह अपनी ज़िंदगी में विजेता रह चुके है. इनके साथ समय बिताना अच्छा अनुभव था और मैं इन्हें सिर्फ रूस के खेलों के लिए बल्कि जीवन के हर मुक़ाम के लिए शुभकामनाएं देना चाहता हूँ. मैंने आज उनसे बहुत कुछ सीखा है. वह एक प्रेरणा का स्रोत है और खेल भावना सही मिसाल पैदा करते है."

टाटा मेमोरियल अस्पताल से डॉ तुषार वोरा ने कहा, "ये बहादुर दिल ऐसे बच्चे हैं जिन्होंने कैंसर जैसी डरावनी बीमारी से लड़ कर विजय प्राप्त की है और अब मास्को की ओर बढ़ रहे हैं, जहां 20 देशों से बचपन में कैंसर को मात देने वाले 500 से अधिक बच्चें विभिन्न खेलों में भाग लेंगे. उनमें से प्रत्येक पहले से ही 'विजेता' है लेकिन यह अंतरराष्ट्रीय मंच उन्हें समाज में वापस आने के लिए अधिक एक्सपोज़र, आत्मविश्वास और भावना प्रदान करेगा. हमें यह जानकर गर्व है कि शाहरुख खान टाटा मेमोरियल सेंटर के इस प्रयास का समर्थन करते है और प्रोत्साहित करते है."
Advertisement
Advertisement
  • Trending
  • Photos
  • Quickies