क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर ने देखी हॉकी पर आधारित बायोपिक 'सूरमा'

सचिन तेंदुलकर हाल ही में दिलजीत दोसांझ अभिनीत हॉकी किंवदंती संदीप सिंह की बायोपिक 'सूरमा' की विशेष स्क्रीनिंग में शरीक हुए. इस मौके पर उनकी पत्नी और बेटी भी मौजूद रही.

महान क्रिकेट खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर हाल ही में दिलजीत दोसांझ अभिनीत हॉकी किंवदंती संदीप सिंह की बायोपिक 'सूरमा' की विशेष स्क्रीनिंग में शरीक हुए. फिल्म रिलीज से पहले 'सूरमा' के निर्माताओं ने सचिन तेंदुलकर को भारत के ऐस हॉकी खिलाड़ी संदीप सिंह की बायोपिक दिखाने के लिए मुंबई में विशेष स्क्रीनिंग का आयोजन किया था. फिल्म देखने के बाद सचिन तेंदुलकर न केवल प्रशंसा से खड़े हो गए, बल्कि संदीप सिंह की प्रेरणादायक कहानी पर अपने विचार भी व्यक्त किये.

क्रिकेटर ने कहा शानदार फिल्म, यह वास्तव में प्रेरणादायक है. हम सभी हॉकी देख चुके है लेकिन संदीप के साथ ऐसा कुछ हुआ था, मुझे ईमानदारी से यह नहीं पता था. इसलिए, मैं बहुत खुश हूं कि शिव, शाद, दिलजीत और अंगद जिन्हें मैंने एक बच्चे के रूप में बड़ा होते हुए देखा है, उन्होंने फ़िल्म में शानदार काम किया है. यह सिर्फ एक खिलाड़ी के लिए नहीं बल्कि आम तौर पर सभी के लिए बेहद प्रेरणादायक है. मुझे लगता है कि यह एक शानदार कहानी है और इस अद्भुत कहानी के नाते सभी को यह फिल्म देखनी चाहिए. यह फ़िल्म कभी न हार मारने वाला रवैया दर्शाती है और साथ ही हमें अपने पैरों पर फिर से खड़ा होना सिखाती है.

निर्देशक शाद अली भी सूरमा की विशेष स्क्रीनिंग में शरीक हुए जहां शाद क्रिकेट के भगवान सचिन के साथ मीडिया के लिए पोज़ करते हुए नज़र आये.

सूरमा एक असली कहानी से प्रेरित है और निर्देशक शाद अली ने इसे यथासंभव रियल रखने की कोशिश की है.



संदीप सिंह को 12 साल पहले गोली मारी गयी थी जब वह ट्रेन से यात्रा कर रहे थे, और इस दुर्भाग्यपूर्ण घटना के बाद हॉकी खिलाड़ी 2 साल तक लकवाग्रस्त थे. लेकिन संदीप का दृढ़ संकल्प और खेल के प्रति प्यार उन्हें नई जिंदगी देने में क़ामयाब रहा, जिसके बाद खिलाड़ी ने हमारे देश के लिए कई पदक जीत कर एक बार फिर हमारा सर गर्व से ऊपर कर दिया था.

सूरमा’ में संदीप सिंह के संघर्ष और हॉकी किंवदंती बनने के उनके सफ़र को वास्तविकता देने के लिए, फ़िल्म को संदीप के होमटाउन शाहबाद में फ़िल्माया गया है.

फ़िल्म के ट्रेलर में एक खिलाड़ी की प्रेरणादायक सत्य कहानी दिखाई गई है, जिसने दुर्भाग्यपूर्ण दुर्घटना के बाद अपनी चमत्कारी वापसी से सुर्खियां का ध्यान अपना आकर्षित कर के अपनी दमदार वापसी से हर किसी को हैरान कर दिया था.

यह एक कम ज्ञात तथ्य है कि संदीप को दुनिया का सबसे खतरनाक ड्रैग-फ्लिकर में से एक माना जाता है, जिनकी ड्रैग की स्पीड 145 km/hr है और उनकी इस शानदार स्पीड के चलते उन्हें "फ्लिकर सिंह" के नाम से जाना जाता है.

संदीप सिंह की प्रेरणादायक कहानी ने निर्माताओं को इसे बड़े पर्दे पर लाने के लिए मजबूर कर दिया. 

शाद अली द्वारा निर्देशित फिल्म में दिलजीत दोसांझ के साथ तापसी पन्नू और अंगद बेदी मुख्य भूमिका में नज़र आएंगे.

"सूरमा" सोनी पिक्चर्स नेटवर्क प्रोडक्शंस, चित्रांगदा सिंह और दीपक सिंह द्वारा निर्मित है. संदीप सिंह के जीवन पर आधारित "सूरमा" 13 जुलाई, 2018 को नज़दीकी सिनेमाघरों में रिलीज होगी.

 

RELATED NEWS