बजने दो नाईट एंड डे: आकृति कक्कड़ ने कहा ‘म्यूजिक मेरे अस्तित्व की वजह’

सैटरडे सैटरडे गाने से फेमस हुई आकृति कक्कड़ आज बॉलीवुड के मशहूर सिंगर्स की लिस्ट में आती है. वर्ल्ड म्यूजिक डे के मौके पर हमने उनसे बात की और जानना चाहा कि म्यूजिक उनके लिए क्या मायने रखता है?

आकृति कक्कड़ ने साल 2004 में अपने करियर की शुरुआत की और धीरे-धीरे वो प्लेबैक सिंगर्स के बड़े नामों में शुमार हो गई. वर्ल्ड म्यूजिक डे पर हमसे बात करते हुए आकृति ने म्यूजिक और उससे जुड़ी चीजों के बारे में बात की. जब उनसे हमने पूछा की म्यूजिक उनके लिए क्या मायने रखता है तो उन्होंने कहा ‘म्यूजिक ही उनके अस्तित्व की वजह है’ आकृति से म्यूजिक डे एंथम ‘बजने दो नाईट एंड डे’ सुनने के बाद उनके पहले रिएक्शन के बारे में पूछा तो उन्होंने कहा कि इस गाने को रिकॉर्ड करने से पहले मैं इस गाने को गुनगुनाने लगी ऐसा ही कुछ लोग भी करेंगे जब वो इस गाने को सुनेगे.

 

म्यूजिक डे के मौके पर क्या है आकृति के प्लान? तो उन्होंने बताया कि मेरा म्यूजिक सिर्फ एक दिन के लिए नहीं होता. ये साल के हर दिन होता है. ऐसा में हर दिन करती हूं और करती रहूंगी.



आकृति से जब पूछा गया कि कौन सा जेनर जो उन्हें पसंद है तो उन्होंने बताया कि सूफी, क्लासिकल, जैज और पॉप. मैं अपने आप को हमेशा अपडेट करना पसंद करती हूं.

 

जिन्होंने ने भी ‘बजने दो नाईट एंड डे’ नहीं सुना वो यहां उसे सुन सकते हैं.


RELATED NEWS