'सेल्फी मौसी' के नाम से मशहूर सिद्धार्थ सागर को दोबारा मिला उनका प्यार, लौट आयी गर्लफ्रेंड सुरभि जोशी

आज सिद्धार्थ का जन्मदिन है सो अपने इस जन्मदिन के मौके पर सिद्धार्थ ने अपने फैंस को एक और खुशखबरी दी हैं. बर्थडे वाले दिन सिद्धार्थ का उनकी गर्लफ्रेंड सुरभि जोशी के साथ पैचअप हो गया.

कुछ महीने पहले अपने पैरेंट्स के खिलाफ आरोप लगाने के बाद कॉमेडियन सिद्धार्थ सागर अब एक बार फिर काम पर लौट आए हैं. स्पॉटबॉय से खास बात करते हुए सिद्धार्थ ने कहा था कि उस घटना के बाद मानो अब वो एक नई लाइफ जी रहे हैं. वो नहीं चाहते कि उनके पैरेंट्स अब उनसे कोई मतलब रखें. आज सिद्धार्थ का जन्मदिन है सो अपने इस जन्मदिन के मौके पर सिद्धार्थ ने अपने फैंस को एक और खुशखबरी दी हैं. बर्थडे वाले दिन सिद्धार्थ का उनकी गर्लफ्रेंड सुरभि जोशी के साथ पैचअप हो गया. 2 साल पहले दोनों का रिश्ता सिद्धार्थ की मॉम की वजह से टूट गया था. लेकिन अब ये दोनों एक बार एक-दूसरे को डेट कर रहे हैं.

 

सुरभि ने अपने इंस्टाग्राम पर सिद्धार्थ के बर्थडे पर कई फोटोज पोस्ट करते हुए उन्हें विश किया. सुरभि ने लिखा- जो साथ रहना चाहते वो अपना रास्ता ढूंढ ही लेते है. कुछ मुश्किलें जरूर आती है लेकिन वो कभी नहीं हारते. जन्मदिन मुबारक हो सिद्धार्थ. वेलकम होम.


 

जिसके बाद सिद्धार्थ ने लिखा- मैं तुम्हारे पास आकर बेहद खुश हूं.

 



 

बुरे दौर से गुजरने के बाद सिद्धार्थ को दोबारा कॉमेडी शो में एंट्री मिल गई है. जिसके बाद सिद्धार्थ ने स्पॉटबॉय से बात की. ये है उनकी बातचीत के कुछ अंश.

 

यह कॉमेडी शो उन सबसे से अलग कैसे है जो हम अब तक देखते आ रहे हैं?

 

इसमें अलग-अलग चेहरे हैं. इसमें कृष्णा अभिषेकसुदेश लेहरी या भारती सिंह नहीं हैं. आप मुझेमुबेन और अन्य कॉमेडियनों जैसे कि केतन सिंह (शंकर जय किशन)परितोष त्रिपाठी और गौरव दुबे है जो दूसरों को हंसाने की कोशिश करेंगे.

 

क्या आपने शूटिंग शुरू कर दी है?

 

नहींइसकी शूटिंग 17 जून से शुरू होगी अभी हमारे रिहर्सल चालू हैं.

 

क्या आपको लगता है कि आपने इस शो को अपनी वापसी के लिए चुनकर एक अच्छा फैसला किया हैं?

 

निश्चित रूप सेमैं लोगों को हंसाने के लिए जाना जाता हूं हालांकि मैं पिछले एक साल से हंसा नहीं हूं. क्योंकि मैं पागलखाने और रिहेब के बीच उलझा हुआ था. लेकिन जब चीजें ट्रैक पर वापस आ गईंतो मैं तैयार हूं.


अब तुम कहां रह रहे हो?

 

अभी तो मैं गोरेगांव में रह रहा हूं. मुझे डेढ़ महीने पहले रिहेब से छुट्टी मिली थी. लेकिन मैं वहीं रहते हुए काम तलाश रहा था जिसके कारण मुझे ट्रेवल करना पड़ रहा था. ऐसे में उन्होंने मुझे डिस्चार्ज कर दिया और गोरेगांव में घर दिलाने में मदद भी की.

 

क्या आपके माता-पिता ने आपसे संपर्क करने की कोशिश की है?


नहींउन्होंने नहीं किया है और मैं प्रार्थना करूंगा कि वे कॉल न करें. मेरा जीवन वापस ट्रैक पर आना शुरू हो गया है और पहले से बेहतर है. मुझे उन्हें कुछ भी देना नहीं है. मैं इस फेस को पीछे छोड़ना चाहता हूं और काम पर ध्यान केंद्रित करना चाहता हूं.

 

RELATED NEWS