2013 के आईपीएल फिक्सिंग मामले में फंसे क्रिकेटर और बिग-बॉस सीजन 12 के पहले रनर-अप और श्रीसंत ने सुप्रीम कोर्ट में यह दावा किया है कि बीसीसीआई द्वारा उनके क्रिकेट खेलने पर आजीवन पाबंदी पूर्णरूप से अनुचित है. श्रीसंत ने आगे कहा दिल्ली पुलिस ने साल 2013 आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग मैच में  प्रकरण में भागीदारी स्वीकारने के लिए उन्हें हिरासत में लेकर लगातार यातनाएं दीं.

गौरतलब है कि इस क्रिकेटर को स्पॉट फिक्सिंग से संबंधित मामले साल 2015 में निचली अदालत ने आरोपमुक्त कर दिया था. अब श्रीसंत ने दावा करते हुए कहा है कि उन्होंने अपराध में भागीदारी की बात  सिर्फ इसलिए कबूल की थी क्योंकि पुलिस ने उन्हें हिरासत में लेने के बाद काफी यातनाएं दी और साथ ही उनके परिवार को इस मामले में फसाने की धमकी दी थी. यह भी पढ़ें: Shocking! बिग बॉस 12 के 'भाई-बहन' यानी दीपिका कक्कड़ और श्रीसंत के बीच आई दरार, इस वजह से किया इंस्टाग्राम पर अनफॉलो

श्रीसंत ने सुप्रीम कोर्ट में केरल हाई कोर्ट की खंडपीठ के उस फैसले को चुनौती दी जिसमें बीसीसीआई द्वारा उन पर लगाए गए प्रतिबंध को फिर से शुरू किया गया था. आपको याद होगा न्यायमूर्ति अशोक भूषण और न्यायमूर्ती केएम् जोसेफ की पीठ से इस क्रिकेटर के वकील ने कहा था कि मैच फिक्सिंग का कोई भी स्पष्ट साक्ष्य नही है. पिछले पांच-छह सालों से श्रीसंत को इसकी वजह से बहुत ही ज्यादा परेशानी से गुज़रना पड़ा है. यह भी पढ़ें: श्रीसंत को थप्पड़ जड़ने की कंट्रोवर्सी पर हरभजन सिंह को हुआ अपनी गलती का एहसास, कही ये बात

श्रीसंत की और से पेश वरिष्ठ अधिवक्ता सलमान खुशीर्द ने कहा कि, “तथ्यों और जिस तरह से यह चीज़ें हुई है उन्हें देखते हुए इस अदालत को इस बात पर सोच-विचार ज़रूर करना चाहिए. श्रीसंत पर (बीसीसीआई द्वारा लगाई गई आजीवन)पाबंदी पूरी तरह अनुचित है. उन्होंने बीते 5,6 महीनों में बहुत ही ज्यादा परेशानी झेली है. लोग चाहते हैं कि वह क्रिकेट खेले वह हमेशा से ही बीसीसीआई के प्रति पूर्णरूप से ईमानदार रहें हैं.” यह भी पढ़ें: क्या जानबूझ कर श्रीसंत ने नहीं किया खतरों के खिलाड़ी का टास्क? शो से होना पड़ा बाहर

खुशीर्द ने यह भी कहा कि यह अभी तक साबित नही हुआ है कि 2013 मई में राजस्थान रॉयल्स और किंग्स इलेवन पंजाब की टीमों के बीच मोहाली में खेले गए मैच में कोई स्पॉट फिक्सिंग हुई थी और इस बात का भी कोई सुबूत नही है कि क्रिकेटर को इसके लिए पैसे दिए गए थे. यह भी पढ़ें: श्रीसंत के मुश्किल भरे पल में कैसे उनके साथ डटी रही पत्नी भुवनेश्वरी कुमारी, देखिए एक्सक्लूसिव इंटरव्यू

कतिथ अपराध में भागीदारी होने की बात कर अधिवक्ता ने कहा, “कबूलनामा दिल्ली पुलिस के लगातार यातनाओं के कारण हुआ. श्रीसंत के अनुसार पुलिस ने उन्हें धमकी थी कि अगर वह इस अपराध को नही क़ुबूल करेंगे तो इस मामले में वो उनके परिवार को भी फंसा देंगे.” शीर्ष अदालत गुरुवार को इस मामले में आगे सुनवाई करेंगे.  जब बीसीसीआई की प्रशासकों की समिति की ओर से पेश वकील अपनी-अपनी दलीलें पेश करेंगे.  


Image Source:Instagram/sreesanthnair36
They say the best things in life are free! India’s favourite music channels 9XM, 9X Jalwa, 9X Jhakaas, 9X Tashan, 9XO are available Free-To-Air.  Make a request for these channels from your Cable, DTH or HITS operator.
Advertisement
  • Trending
  • Photos
  • Quickies