बीच सड़क पर हुए हमले के डर से अब भी उबर नहीं पाई हैं रुपाली गांगुली

4 अगस्त को रुपाली गांगुली पर दो बैक सवार युवकों ने हमला कर दिया और उनकी कार में तोड़फोड़ की थी. इस हमले के दौरान रुपाली का बेटा भी उनके साथ था जो इस झगड़े को देखकर डर गया था.

189 Reads |  

बीच सड़क पर हुए हमले के डर से अब भी उबर नहीं पाई हैं रुपाली गांगुली
तो, बताइए कहां है वो दोनों लफंगे? 
मुझे लगता है कि उन्हें जमानत पर रिहा कर दिया गया था.

ऐसा कब हुआ?
4 अगस्त को, पुलिस ने अपना काम किया लेकिन कानून ने उन्हें जाने दिया. मैं पुलिस के संपर्क में हूं. मैं नहीं चाहती कि वर्सोवा में मेरे घर के आसपास वो दोनों भटके. वो दोनों वर्सोवा कोलीवाडा से हैं. 

क्या आप उन्हें अदालत में ले जा रही हैं?
पुलिस मुझसे संपर्क में है, उन्होंने मुझसे पूछा कि मैंने आसपास के इलाके में कुछ ऐसा तो नहीं देखा जिसपर संदेह लगे. मैं वास्तव में नहीं समझ पा रही हूं कि मुझे इस चीज़ को आगे बढ़ाना चाहिए ताकि  उन दोनों बाइकर्स को दंड मिले.  मैं नहीं चाहती की किसी और के साथ ऐसा हो. उन दोनों में से एक ड्राइवर के तौर पर मेरे दोस्त की बिल्डिंग में काम करता है. मुझे पता चला है कि वो मेरे कार की क्षति को भरने के लिए तैयार है लेकिन मुझे ये नहीं चाहिए. मान लीजिए अगर उस दिन मेरे पति कार चला रहे होते तो ये दोनों मिलकर उन पर हमला कर देते थे.

मेरा बच्चा रात को कई बार डर कर उठ जाता है. उसने कार में बैठना बंद कर दिया. मुझे कई दिन लग गए उसे दोबारा कार में बिठाने में.
उन्हें दंड मिले उससे ज्यादा मैं चाहती हूं कि उन्हें अहसास हो की वो ऐसा किसी के साथ नहीं कर सकते. मैं अपने आसपास अब पहले से ज्यादा सतर्क रहती हूं. 


आपके पति क्या कहना है?
मेरे पति काफी सपोर्टिव हैं. वो हस्तक्षेप नहीं कर रहे हैं. वह कहते है कि मुझे वह करना चाहिए जो मुझे लगता है कि सही है.

और तुम्हारे अनुसार क्या सही है?
जैसा कि मैंने कहा, मुझे वास्तव में नहीं पता इस समय क्या करना चाहिए. मुझे किसी के पेट पर लात नहीं मारनी. कोई कमाल की दुश्मनी नहीं निकालनी. मेरे बच्चे को भुगतना पड़ा हैं. मैं उसके डर को कैसे कम कर सकती हूं? यह एक मनोवैज्ञानिक मुद्दा है. एक मां के रूप में, आप एक बंदर हैं . एक समय में 20 चीजें कर रहे हैं, मेरी सास 85 साल की हो गई है और अस्वस्थ है. इस बीच में ये सब हो गया.

क्या आप विशेष रूप से कोई सावधानी बरत रहे हैं?
जब मैं अकेले होती हूं तो नहीं. लेकिन हां, मैं लगभग हर समय पीछे देखने वाले कांच से देख रही होती हूं. मैं अपने बच्चे को नौकरानी के साथ छोड़कर कार से नीचे नहीं उतरती हूं, चाहे वो घर के लिए कितनी भी जरूरी की कोई चीज क्यों ना हो. ]


जारी रखें...
मैंने उस समय वही किया जो सही लगा. मैं उन दोनो बाइक सवार को सबक सिखाना चाहती थी. और मैंने किया.

क्या आपको बहुत से लोगों की कॉल आ रही हैं?
हां, लेकिन उनमें से ज्यादातर सिर्फ ये पूछते हैं 'क्या हुआ था उस दिन? जो बहुत परेशान करता है. मैं बहुत लो प्रोफाइल की इंसान हूं. मैंने फोन को दूर रख दिया है आपसे बात कर रही हूं क्योंकि आपको लंबे समय से जानती हूं. 
Advertisement
Advertisement
  • Trending
  • Photos
  • Quickies